Holi 2024 Me Kab Hai? होली कब मनाया जाता है? होली क्यू मनाई जाती है?

Holi 2024 Me Kab Hai :- दोस्तों आज हम होली फेस्टिवल के बारे में बतायेंगे. होली हमारे हिन्दुओ भाइयो की बहुत ही महत्वपर्ण त्यौहार है जो भारत के सभी राज्य में बहुत ही धूम – धाम से मनाया जाता है. होली रंगों का त्यौहार है जो होलिका दहन के अगले दिन मनाया जाता है.

Holi 2024 Me Kab Hai

अगर आप जनाना चाहते है की होलिका दहन 2024 में कब है?, होली कब है?, होली क्यू मनाई जाती है? होली कैसे मनाई जाती है?, तो आपको मेरे इस Holi 2024 Me Kab Hai आर्टिकल को अंत तक जरुर पढ़ना होगा.

आर्टिकल नामHoli 2024 Me Kab Hai
लाभ होली त्यौहार से जुडी सभी जानकारी
लाभार्थी भारत के सभी राज्य के निवाशी
Holi 2024 Me Kab Hai25 मार्च दिन सोमवार
होलिका दहन कब है 24 मार्च दिन रविवार
साल 2024
होली कब मनाया जाता है फल्गुन मास के पूणिमा को
होलिका दहन कब मनाया जाता है फल्गुन शुक्ल पक्ष चतुर्दशी को
ऑफिसियल बेवसाईट यहाँ क्लिक करें

होली कब मनाया जाता है?

हमारे भारत देश में हिन्दुओ के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार है जो बहुत ही धूम – धाम से मनाया जाता है. होली हर साल फल्गुन मास के पूणिमा को मनाया जाता है. बसंत पंचमी के दिन से ही होली का त्यौहार का गाना बजाना होने लगता है. जिस दिन होली होती है उस दिन तो सुबह में सभी एक दुसरे के रंग लगायेंगे. शाम को एक दुसरे के घर जाकर अबीर लगायेंगे और गले मिलेंगे. इस महिना में गेहूं के बाली और सरसों के बाली खेतो में लहराते रहते है.

होलिका दहन कब मनाया जाता है?

होलिका दहन फल्गुन मास के शुक्ल पक्ष चतुर्दशी को मनाया जाता है. इसी दिन भारत के सभी राज्य में होलिका दहन मनाया जाता है. होलिका दहन के दिन सभी एक जुट होकर बहुत ही उत्सव के साथ होलिका दहन मनाते है. होलिका दहन के अगले दिन होली का त्यौहार मनाया जाता है. होली त्यौहार एक रंगो का त्यौहार है जो भी इस त्यौहार के दिन अच्छी तरह से विधि विधान से पूजा करता है उसकी जिन्दगी में भी रंग भर जाता है.

holi kaise mnaya jata hai?

होली का त्यौहार हमारे हिन्दुओ धर्म में बहुत ही धूम – धाम से मनाया जाता है. हमारे हिंदुवो धर्म होली त्यौहार को बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार माना जाता है. होली रंगो का त्यौहार है जो हर घर यह त्यौहार मनाया जाता है. बसंत पंचमी के दिन से नाच गाना और बजाना होता रहता है. होलिका दहन के अगले दिन होली का त्योहर मनाया जाता है. होली के दिन सुबह में अपने घर के सभी देवी देवता की विधि विधान से पूजन किया जाता है. सबसे पहले उन्हें ही अबीर लगाया जाता है. इस दिन पूवा, मिठाई , बनता है और अपने घर के देवो देवताओ को चढ़ाया जाता है और अबीर लगाया जाता है. होली के दिन मन्दिर में भी जाकर पूजा किया जाता है और अबीर भी चढ़ाया जाता है. दोपहर में सभी लोग बच्चे से लेकर बड़े तक एक दुसरे को रंग लगाते है. इस दिन गाना बजाकर सभी एक जुट होकर रंगों से होली खेलते है. होली खेलने के बाद असनाना करके नये कपड़ें पहनकर अबीर लेकर एक दुसरे के घर जाते है. जाकर अपने से बड़े को पैर पर अबीर लगाते है और उनसे आशीर्वाद लेते है. अबीर लगाकर गले मिलते है. एक दुसरे के घर जाकर मिठैया खाते है.

होली क्यू मनाई जाती है?

होली हर साल फल्गुन मास के पूणिमा को मनाया जाता है. होली मनाया जाता है क्यू की इस दिन बुराई पर अच्छाई की जित हुई थी.

प्रहलाद और होलिका से जुडी कथा |

एक बार प्रहलाद अपने विष्णु भगवन का पूजा कर रहा था तब ही उसके पिता ने देख लिया. उनके पिता ने अपने पुत्र प्रहलाद से कहाँ की तुम मेरे नाम का भजन करो मेरा नाम लो. प्रहलाद ने माना कर दिया बोला में विष्णु भगवन का ही नाम लूँगा. तब प्रहलाद के पिता ने उसे पहाड़ पर से मरने का कोशिश की लेकिन विष्णु नारायण ने बच्चा लिया. बहुत बार प्रहलाद को मारने की कोशिश की लेकिन वह बचता गया. एक दिन प्रहलाद के पिता की बहन यानि प्रहलाद की बुवा होलिका आई बोली भाई आप क्यू परेशान है. तब प्रहलाद के पिता ने बताया की में बहुत बार प्रहलाद को मारने की कोशिस की लेकिन यह नही मरा. तब होलिका ने कहाँ की आप भाई परेशान नहीं हो में प्रहलाद को मार डालूंगी. होलिका ने कहा भाई मुझे भगवान से वरदान मिला है की में आग में जलकर नही जल सकती हूँ. तब होलिका ने प्रहलाद को गोद में लेकर बैठ गई आग लगा दी गई. प्रहलाद गोद में ही विष्णु नारायण का जप करने लगा जिससे होलिका आग में जलकर मर गई और प्रहलाद बच गया. इसी लिए होलिका दहन के दिन होलिका जलाते है. अगले दिन उसी ख़ुशी में होली का त्यौहार मनाया जाता है.

होली 2024 में कब है?

भारत देश हर एक राज्य में फल्गुन मास के पूणिमा को मनाया जाता है. इसी तिथि के अनुसार होली 2024 में 25 मार्च दिन सोमवार को है. 25 मार्च को भारत के हर एक राज्य में बहुत ही धूम – धाम से मनाया जाता है. होली के दिन एक दुसरे को रंग लगाकर होली मनाते है. असनान करके शाम को नए नए कपडे पहनकर अबीर लेकर एक दुसरे के घर जाते है अबीर लगाते है. छोटे से लेकर बड़े तक सभी नाच गाना बजाना करते है और बहुत ही धूम धाम से होली त्यौहार को मनाते है .

होली का महत्व क्या है?

होली बहुत ही हिंदुवो के लिए महत्वपूर्ण त्यौहार है . होली के दिन भी मंदिरो में अपने घर में अपने भगवान को पूवा पकवान मिठाई फल , अबीर रंग चढाया जाता है. जिससे घर के सभी कष्ट दूर होते है. जो भी ब्यक्ति इस दिन सच्चे दिल से पूजन विधि अनुसार करता है उनके जिन्दगी में रंग भर जाता है.होली के दिन किसकी भी जात – पात नही देखा जाता है सभी के घर जाकर एक दुसरे को अबीर रंग लगाकर गले लगते है. अगर किसी से भी झगडा या गिला सिकवा होता है तो होली के दिन सभी एक साथ मिल जाते है सभी गमो को भूल जाते है. होली हमरे जीवन या सबके जीवन में रंग भर देता है.

होली त्यौहार से सम्बंधित कुछ सवाल और जवाब (FAQ)

होलिका दहन 2024 में कब है?

होलिका दहन 2024 में 24 मार्च दिन रविवार को है

होली 2024 में कब है?

होली 2024 में 25 मार्च दिन सोमवार को है.

होली कब मनाया जाता है?

होली फाल्गुन मास के पुर्णिमाँ तिथि को मनाया जाता है

होली कौन- कौन से देश मनाया जाता है?

होली भारत और नेपाल देश में मनाया जाता है.

होली का त्यौहार कब से मनाते आ रहे है?

होली का त्यौहार प्रचीन काल से मनाते आ रहे है.

निचे कमेन्ट बॉक्स में अपना सवाल जरुर पूछिए

आशा करती हु यह आर्टिकल Holi 2024 Me Kab Hai? आपको पसंद आया होगा और आपके मन में जो भी डाउट होंगे  होली कब मनाया जाता है? को लेकर सभी क्लियर हो गए होंगे.

जैसे : Holi 2024 Me Kab Hai?, होली कब मनाया जाता है?, होलिका दहन कब मनाया जाता है?, holi kaise mnaya jata hai?, होली क्यू मनाई जाती है? इत्यादी .

यदि फिर भी आपका सवाल या सुझाव होगा Holi 2024 Me Kab Hai? से सम्बंधित आप निचे कमेन्ट कॉक्स में कॉमेंट कर सकते हैं मैं उसका रिप्लाई जल्द से जल्द करूँगी|

अब आपकी बरी कृपया शेयर जरुर कीजिये.

यह आर्टिकल आपके किसी दोस्त या रिश्तेदार के काम में आसक्ता हैं, तो उनके साथ इसे Facebook और WhatsApp जैसे सोशल मीडिया साईट पर शेयर जरुर करें |

Leave a Comment